ब्लॉग मित्र मंडली

14/9/13

मातृ-भाषा पितृ-भाषा हिंदी ही है मित्र-भाषा

हिंदी दिवस के उपलक्ष में दो कवित्त 
हिंदी है हमारी शान, हिंदी है हमारी जान,
 हिंदी से हमारा मान, हिंदी को प्रणाम है !
गौरव की भाषा हिंदी, भारत की आशा हिंदी,
स्नेह की प्रत्याशा हिंदी, हिंदी को प्रणाम है !
है देवों की वाणी हिंदी, जन की कल्याणी हिंदी,
मधुर-सुहानी  हिंदी, हिंदी को प्रणाम है !
बसी है सांसों में हिंदी, जिह्वा पे, आंखों में हिंदी,
श्रेष्ठ है लाखों में हिंदी, हिंदी को प्रणाम है !
-राजेन्द्र स्वर्णकार
©copyright by : Rajendra Swarnkar

स्वर्ग में हिंदी भाषा में मधुर-मधुर बोल
बोल देवता फूले गर्व से समाते हैं !
भारत माता के बच्चे रात-दिन घर-घर,
गांव-नगरों में, हिंदी में ही बतियाते हैं !
पाया विश्व में सम्मान, ये हमारा स्वाभिमान,
हिंदी आगे हम शीश श्रद्धा से झुकाते हैं !
मातृ-भाषा, पितृ-भाषा, हिंदी ही है मित्र-भाषा,
धिक उन्हें ! जो भी हिंदी बोलते लजाते हैं !
-राजेन्द्र स्वर्णकार
©copyright by : Rajendra Swarnkar

मंगलकामनाएं 

24 टिप्‍पणियां:

Smart Indian - अनुराग शर्मा ने कहा…

बहुत खूब। हिन्दी दिवस पर बधाई और शुभकामनायें!

निहार रंजन ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना. पूर्णतः सहमत हूँ आपकी रचना के कथन से.

Kaushal Lal ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना.

शकुन्‍तला शर्मा ने कहा…

" रहे अलंकृत रत्नाभरणा धर संस्कृत सुहाग बिन्दी । कोटि-कोटि कंठों में गूँजे मधुर राष्ट्र-भाषा हिन्दी ।"

दीपक भारतदीप ने कहा…

हिंदी दिवस की बधाई

दीपक भारतदीप ने कहा…

हिंदी दिवस की बधाई

Alpana Verma ने कहा…

हिंदी का मस्तक ऊँचा करती हुई यह बहुत ही अच्छी और अर्थपूर्ण कविता है.
यकीनन श्रेष्ठ है हमारी हिंदी.
दिवस विशेष की बधाई.

Darshan jangra ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल - रविवार - 15/09/2013 को
भारत की पहचान है हिंदी - हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः18 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया आप भी पधारें, सादर .... Darshan jangra





अनुपमा पाठक ने कहा…

अपनी भाषा को और इस रचना को प्रणाम!

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

हिन्दी का गौरव बना रहे ..... बहुत सुंदर रचना ।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

घिनही को उसका वैभव मिलता रहेगा जब तक कलम के सिपाही उसका मान रखते रहेंगे ...
सुन्दर भावपूर्ण रचनाएं हैं सभी ...
हिंदी दिवस की बधाई ...

Anita ने कहा…

हिंदी भाषा की सुंदर स्तुति..हिंदी दिवस पर शुभकामनायें!

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…

हिंदी हमारी शान है हिंदी पर अभिमान है।
सुंदर सृजन ! बधाई शुभकामनाए,,,

RECENT POST : बिखरे स्वर.

sheetal ने कहा…

bahut sundar rachna.

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर...हिंदी दिवस की शुभकामनायें!

डॉ टी एस दराल ने कहा…

इंग्लिश तो सभी बोल लेते हैं. हिंदी हमें पहचान दिलाती है। शुभकामनायें भाई जी।

rohitash kumar ने कहा…

जो हिंदी में बोलने से शर्माए उससे बड़ा अभागा कौन होगा...जो मां के रहते मौसी को मां का दर्जा दे रहा है...लाख बकवास कर ले कोई हिंदी पूरे देश में बोली जा रीह है समझी जा रही है...

Reena Maurya ने कहा…

हिंदी भाषा पर आपकी प्रस्तुति बहुत ही बेहतरीन है...
अति सुन्दर....
:-)

shashi purwar ने कहा…

बहुत सुंदर रचना है । क्या बात है. ......हिंदी हमारी पहचान है. --- सपने पर आपका स्वागत है
हिन्दी दिवस पर बधाई और शुभकामनायें!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

जयति हिन्दी, जयति देशं

Ranjana Verma ने कहा…

बहुत खुबसूरत भावमय रचना !! हिंदी दिवस की बहुत बहुत शुभकामनायें !!

Ranjana Verma ने कहा…

बहुत खुबसूरत भावमय रचना !! हिंदी दिवस की बहुत बहुत शुभकामनायें !!

आशा जोगळेकर ने कहा…

हिंदी है हमारी शान हिंदी है हमारा मान
हिंदी है हमारी शान, हिंदी को प्रणाम है।

dil se... ने कहा…

Sunder.......