ब्लॉग मित्र मंडली

28/9/11

सरस्वती वंदना : छंद हरिगीतिका

नवरात्रि पर्व
पर आप सबको कोटिशः
शुभकामनाएं मंगलकामनाएं



आज प्रस्तुत है हरिगीतिका छंद में मेरी नई सरस्वती वंदना
हे शारदे !
( छंद : हरिगीतिका )
ज्योतिर्मयी ! वागीश्वरी ! हे शारदे ! धी दायिनी ! 
पद्मासनी ! शुचि ! वेद-वीणा-धारिणि ! मृदुहासिनी ! 
सुर-शब्द-ज्ञान प्रदायिनी ! मां भगवती ! सुखदायिनी ! 
शत शत नमन वंदन ! वरदसुत-मानवर्द्धिनि ! मानिनी ! 

मातेश्वरी ! करुणा कृपा कर’ धन्य उपकृत कीजिए ! 
निशि-दिवस नत दृग याचना है , शरण में ले लीजिए ! 
सम्मुख स्वजन सुर-शब्द-साधक , सरस्वती स्वीकारिए !
तम पंक कल्मष कीच जड़ता हर’ मुझे अपनाइए ! 

सत्यम् शिवम् सुंदर सृजे वह लेखनी दो शारदा ! 
मैं छंद सार्थक श्लील रुचिकर रच सकूं ; है प्रार्थना ! 
दोहे कवित कुंडली सवैये सोरठे हरिगीतिका ! 
हो वार्णिक मात्रिक ; सृजित हर छंद को दो पूर्णता ! 

रस भाव लय सुर ताल छंदों से नई संसृति रचूं ! 
आशीष दो , अनुपम लिखूं मां ! मैं अकिंचन जो लिखूं ! 
हो सर्वजन आनन्द सुख हित ; वो सृजूं …जब तक जियूं ! 
मातेश्वरी ! मैं आपके गृह का बनूं दीपक ; जलूं ! 
-राजेन्द्र स्वर्णकार 
©copyright by : Rajendra Swarnkar
इस प्लेयर पर यह वंदना अवश्य सुनें

Jसुन कर अपनी राय देंगे तो आभारी रहूंगाJ

छंद के प्रति जन रुचि जाग्रत करने और छंद की समझ पुष्पित-पल्लवित करने के महत्त्ती प्रयास स्वरूप  
हरिगीतिका छंद की शृंखला प्रारंभ की हुई है ।
इसी वंदना का प्रथम चरण नवीन जी की लिखी गणेश वंदना के साथ मैंने गाया है ।
शस्वरं के स्नेहीजन की सुविधा  के लिए यह रहा लिंक
नये मित्रों का हार्दिक स्वागत है 
स्नेह – सद्भाव बनाए रहें

80 टिप्‍पणियां:

ऋता शेखर 'मधु' ने कहा…

श्रद्धापूर्ण प्रार्थना...आपकी कविताएँ उच्च स्तरीय होती हैं...आपको भी सपरिवार नवरात्रि की शुभकामनाएँ|

www.navincchaturvedi.blogspot.com ने कहा…

राजेन्द्र भाई माँ शारदा की वंदना और वो आप के मधुर स्वर में, आज का दिन शुभ हो गया। जय हो। हरिगीतिका घोषणा पोस्ट लगा दी गई है, समय मिलने पर मित्र मंडली सह पधारिएगा।

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

माँ सरस्वती और उसके वरद पुत्र भाई राजेन्द्र स्वर्णकार को मेरा नमन

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

माँ सरस्वती और उसके वरद पुत्र भाई राजेन्द्र स्वर्णकार को मेरा नमन

अशोक सलूजा ने कहा…

सुबह-सुबह आप की मीठी आवाज में सरस्वती वन्दना सुन कर आत्म-तृप्ति हुई ...
आशीर्वाद और शुभकामनाएँ!

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

आपको एवं आपके परिवार को भी नवरात्री के
शुभ अवसर पर बहुत-बहुत बधाई एवं शुभकामना
राजेन्द्र जी।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

वाह राजेन्द्र जी ... आपकी मधुर आवाज़ में माँ का वंदन ... बहुत ही मज़ा आ गया आज ...
नव रात्री की बहुत बहुत मंगल कामनाएं ...

Unknown ने कहा…

राजेन्द्र जी आत्मा तृप्त हो गयी ...माँ जगदम्बा की जय जय कार ..अति सुन्दर मनभावन आपके स्वरों में सत्यम शिवम सुन्दरम की भाव पूर्ण सस्वर अभिव्यक्ति ...सादर अभिनन्दन !!!

वीरेंद्र सिंह ने कहा…

मैंने आज पहली बार आपके मधुर स्वर में भजन सुना है! एक बार नहीं, कईं बार सुना! विस्वास कीजिए ..दिल ख़ुश हो गया!
इस भजन को अपने मीठे स्वर में सुनवाने के लिए आपका आभार! आपको सपरिवार नवरात्रों की बधाई!

virendra sharma ने कहा…

बेहद सरस और माधुरी पूर्ण प्रस्तुति .

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

माँ शारदा की वंदना ने आनंदित कर दिया .माँ की शुभ-दृष्टि सदा हम सब पर रहे!

रेखा ने कहा…

बहुत सुन्दर वंदना ....आपकी आवाज में सुनकर आनंद आ गया

सदा ने कहा…

आपकी स्‍वर में मां की वंदना अभिभूत कर गई ...जितना अच्‍छा आपका लेखन है उतनी ही मधुर वाणी दी है मां ने आपको ..बहुत-बहुत बधाई के साथ नवरात्रि पर्व की शुभकामनाएं ।

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

नव-रात्रि पर हार्दिक मंगल-कामनायें स्वीकार करें !

रविकर ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति ||
माँ की कृपा बनी रहे ||

http://dcgpthravikar.blogspot.com/2011/09/blog-post_26.html

Unknown ने कहा…

नमस्तस्यै नमो नमः

रंजू भाटिया ने कहा…

वाह बहुत सुन्दर जय माता दी ..माता की कृपा यूँ ही बनी रहे आप पर और आपके परिवार पर ..

Amrita Tanmay ने कहा…

शक्ति-स्वरूपा माँ आपमें स्वयं अवस्थित हों .शुभकामनाएं.

अजित गुप्ता का कोना ने कहा…

बहुत ही श्रेष्‍ठ।

Rajesh Kumari ने कहा…

बहुत प्यारी वंदना पढ़ी ,सुनी बेजोड़ है लाजबाब है !मेरे ब्लॉग पर तुम्हारी टिपण्णी मेरी नन्ही परी(मेरी नातिन )के लिए आशीर्वाद समझो ,हर्दय से आभारी हूँ !नवरात्रि की शुभकामनायें !तुम्हारी हर रचना मेरे मन को उल्लासित ,हर्षित करती है !तुम दिन,दूनी रात चौगुनी तरक्की करो यही मेरी शुभकामना है !

***Punam*** ने कहा…

सम्मुख स्वजन सुर-शब्द-साधक,सरस्वती स्वीकारिये !तम अंक कल्मष कीच जड़ता हर' मुझे अपनाइए !

माँ दुर्गा के साथ माँ सरस्वती की कृपा आप पर सदा बनी रहे......!
नवरात्रि की शुभ कामना...!!

virendra sharma ने कहा…

सुर साधना आराधना का सफल संगम है इस रचना में .

Maheshwari kaneri ने कहा…

आपकी मधुर आवाज़ में माँ का वंदन ...बहुत अच्छा लगा..नवरात्रि की शुभ कामना...

Suman ने कहा…

राजेन्द्र जी,
बहुत बहुत आभार आपका
आपको भी अनेक शुभकामनायें !
बहुत सुंदर सरस्वती वंदना !
अनेक विधा आपकी लेखनी सृजन करती रहे
यही मेरी कामना है !

Asha Lata Saxena ने कहा…

बहुत अच्छी वन्दना और तर्ज उसकी |
बधाई |इस पावन पर्व पर हार्दिक शुभ कामनाएं |
आशा

आकर्षण गिरि ने कहा…

मां शारदे की वंदना सुन मन प्रसन्न हो गया... मां शारदे सदैव आपकी लेखनी और गले में बसी रहें... नवरात्र की शुभकामनाओं सहित
आफका अनुज
आकर्षण

Rachana ने कहा…

bahut sunder svar aur shabd aapka bahut bahut dhnyavad ki aaj ke pavan din pr aapne itna sunder bhajan sunne ka mouoka diya navin ji ko bhi bahut bahut badhai
saader
rachana

डॉ टी एस दराल ने कहा…

सरस्वती वंदना पढ़कर और आपकी मधुर आवाज़ में सुनकर निर्मल आनंद की अनुभूति हुई ।
नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें स्वीकारें ।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

सुमधुर!
आपको सपरिवार
नवरात्रि पर्व की मंगलकामनाएँ!

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

आपको मेरी तरफ से नवरात्री की ढेरों शुभकामनाएं. .
जय माता दी..

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

अत्यंत मधुर आवाज में सुंदर वंदना, शुभकामनाएं.

रामराम

Saru Singhal ने कहा…

Divine post, Happy Navratras :)

Saru

Saru Singhal ने कहा…

Divine post, Happy Navratras :)

Saru

Deepak Saini ने कहा…

आपकी मदुर आवाज के तो हम पहले से ही फैन है
उस पर माता का वंदन
आत्म शांति मिली
आभार

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) ने कहा…

अनुपम कामना, प्रार्थना -मन तृप्त हो गया.
नवरात्रि पर्व की शुभकामनायें.
मनोकामना पूर्ण हो.

राजीव थेपड़ा ( भूतनाथ ) ने कहा…

mazaa aa gayaa rajendra bhaayi....

रंजना ने कहा…

आह .....परम पावन वंदना....

मन आनंदमय रसमय हो गया...

साधुवाद आपका इस अनुपम कृति के लिए....

Hari Shanker Rarhi ने कहा…

Very peaceful and sweet voice. With best wishes .

sushila shivran ने कहा…

आपकी रचनाएँ और स्वर बहुत सरस हैं । मन भक्तिमय हो गया !
नवरात्रि की शुभकामनाएँ ।

चंदन ने कहा…

बहुत सुन्दर..वन्दना...!
जय माँ शारदे!

Urmi ने कहा…

आपको एवं आपके परिवार को नवरात्री पर्व की हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें !

Indranil Bhattacharjee ........."सैल" ने कहा…

राजेंद्र जी,
आपको सपरिवार नवरात्री की हार्दिक शुभकामनायें और अनेक अनेक बधाई ...
आप यूँही बेहतरीन रचनाओं से हमें पढ़ने का सौभाग्य प्रदान करते रहें यही कामना है ...

इन्द्रनील

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर वन्दना...आपको सपरिवार नवरात्रि की हार्दिक मंगलकामनाएं ! माँ दुर्गा सदैव आप पर कृपा बनाये रखे.

Suman Dubey ने कहा…

राजेन्द्र जी नमस्कार। बहुत सुन्दर छन्द के माधय्म से माँ की वन्दना की है।

निर्झर'नीर ने कहा…

नवरात्री की हार्दिक शुभकामनायें
माता रानी आपकी हर मनोकामना पूरी करे ,आपको सूरज की तरह रोशन करे ,आपका स्नेह और हौला_अफज़ाई हमारे लिए शौभाग्य की बात है

deepti sharma ने कहा…

आपको सपरिवार नवरात्रि की शुभकामनाएँ|

kshama ने कहा…

Kya gazab kee vandana likhee hai!
Aapko bhee Navratree kee anek shubh kamnayen!

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…

माँ वीणापाणि की वंदना .....इतने सुन्दर शब्दों में !

सुन्दर छंद और सुमधुर स्वर में .....मन गदगद हो गया |

भाई राजेन्द्र जी ,

नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ स्वीकारें ...

Sonroopa Vishal ने कहा…

आदरणीय राजेन्द्र जी ,

आपको भी नवरात्री के पावन पर्व की मंगलकामनाएं ,आपके स्वर में पवन वंदना सुनी......अलौकिक ! बधाई ..

दिलबागसिंह विर्क ने कहा…

आपकी पोस्ट आज के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
कृपया पधारें
चर्चा मंच-652 , चर्चाकार-दिलबाग विर्क

Atul Shrivastava ने कहा…

सुंदर प्रस्‍तुति...

नवरात्रि की शुभकामनाएं.......

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

आपको बहुत बहुत बधाई हो।

Dr Varsha Singh ने कहा…

नवरात्रि पर्व पर आपको सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएं।
नवरात्रि आपके एवं आपके परिवार के लिए सुखकर, समृद्धिशाली एवं मंगलकारी हो...

बी.एस.गुर्जर ने कहा…

sarv pratham aapko navdurga parv ki shubhkamnaye or aapke karnpriye chand ke liye subhkamnaye ......bhut hi sundar chand hai aapka .....chama chata hoo ....mene bhut dino baad aapke blog par bapsi ki hai ,,,,,,,,

Unknown ने कहा…

Thanx!!!for appreciation.....
Navratri ki shubh kamana....

कविता रावत ने कहा…

बहुत अच्छी अनुपम कृति ...
इस पावन नवरात्रि पर आपको सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएं!

Pradeep ने कहा…

राजेंद्र जी प्रणाम !
आपका लेखन अपने आप में एक पाठशाला है ...
यहाँ आना हमेशा ही सुखद अनुभव देता है...लेखन की विभिन्न शैलियों में आप पारंगत है...हरिगीतिका छंद में कवि की माँ सरस्वती से वन्दना भाव विभोर कर गयी...

मेरे ब्लॉग पर पधारने और शुभकामनाओं के लिए बहुत बहुत धन्यवाद ...आपको और आपके परिवार को भी नवरात्रि की शुभकामनाएं ...

prritiy----sneh ने कहा…

नमस्कार!

नवरात्रों की शुभकामनाएं -आपको एवं आपके परिवारजनों को.


आपने मेरे ब्लॉग में पधारकर स्नेह दिया इसके लिए आभार.

शुभकामनाओं सहित
प्रीति

Chandrani the Dreams ने कहा…

माँ सरस्वती की कृपा आप पर बनी रहे. यह सरस्वती बंदना शुनकर जी भर उठा . आप को और आपके परिबार के सभी सदस्य को मेरी और से नवरात्रि की शुभ कामनाएँ.

नीरज गोस्वामी ने कहा…

क्या कहूँ माँ सरस्वती के इस लाडले पुत्र की रचना पर क्या कहूँ? मन्त्र मुग्ध हूँ...माँ का आशीर्वाद सदा आप पर यूँ ही बना रहे...

नीरज

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

सत्यम् शिवम् सुंदर सृजे वह लेखनी दो शारदा !
मैं छंद सार्थक श्लील रुचिकर रच सकूं ; है प्रार्थना !
दोहे कवित कुंडली सवैये सोरठे हरिगीतिका !
हो वार्णिक मात्रिक ; सृजित हर छंद को दो पूर्णता !
..आमीन।

माँ सरस्वती की कृपा बस देखते ही बनती है। सुंदर छंद का सृजन हुआ है। पढ़वाने के लिए हम आपके आभारी हुए।

अर्चना तिवारी ने कहा…

माँ सरस्वती की अराधना प्रस्तुत करने के लिए आभार ...माता आपके जीवन को खुशहाल बनाएँ

Dr (Miss) Sharad Singh ने कहा…

नवरात्रि पर्व पर आप को भी सपरिवार कोटिशः
शुभकामनाएं..... मंगलकामनाएं.

महेन्‍द्र वर्मा ने कहा…

हरिगीतिका में मां शारदे की अपूर्व वंदना।
चमत्कृत हूं, आपके शब्द, स्वर और रंग से।

Rohit Singh ने कहा…

वाह मित्र....आवाज़ में मां की स्तुति सुनकर भावविह्ल हो गया....लगा जैसे कहीं भूल सा गया था.....फिर उसकी याद दिलाती आपकी आवाज़...दिल शांत हो गया

डॉ. जेन्नी शबनम ने कहा…

bahut sundar rachna, shubhkaamnaayen.

Khushi ने कहा…

सर, आप पे माँ सरस्वती की असीम कृपा है, आप की वाणी एवम आप की लेखनी में माँ शारदा स्वयं विराजमान है. आप की प्रत्येक प्रस्तुति बहोत पावन प्रतीत होती है....

हमारी और से आपको ढेरों शुभकामनायें.
और माँ सरस्वती को कोटि कोटि नमन .

khushi ने कहा…

सर, आप पर माँ सरस्वती की असीम कृपा है.आप की वाणी एवम आप की लेखनी में माँ सरस्वती स्वयं विराजमान हैं.आप को हमारी ओर से ढेरों शुभकामनाये.
और माँ शारदा को कोटि - कोटि प्रणाम....
शुभरात्रि.

meeta ने कहा…

बहुत प्यारी रचना और बहुत मधुर आवाज़ !!

meeta ने कहा…

बहुत प्यारी रचना और बहुत मधुर आवाज़

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

बहुत सुंदर स्तुति.....शुभकामनायें आपको भी....

अनुपमा पाठक ने कहा…

सुंदर स्तुति!
नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं!

Khushi ने कहा…

har taraf bhrastachar ka ravan muh fade khada hai, ab sirf ek raam ke bharose baithne se kuchh nahi hoga, har ghar me baithe ravan ko khatm karne ke liye har ghar me kisi ko raam bhi banna hoga.
aao milke sankalp karen is samaj se bhrastachhar rupi ravan ko khatm kar ek sundar aur swast samaj ka nirman karne ka...
happy vijay dashmi...

रचना दीक्षित ने कहा…

माँ की वंदना तो बहुत सुंदर रची है आपने. परन्तु आपकी आवाज उससे भी अधिक सुंदर है.
आपने सही कहा कि इस पेशकश को सुनाने के बाद ही कोई टिपण्णी दी जाये बिलकुल सही है. इस प्रस्तुति ने तो बस भावविभोर कर दिया. अद्भुत.


माँ शारदा अवश्य आपकी लेखनी का शक्तिवर्धन करें और आपके कंठ में इसी तरह सरस्वतीजी जी का वास रहे.

विजयादशमी और नवरात्रि के पर्वों पर आपको व आपके परिवार को बहुत शुभकामनायें.

www.navincchaturvedi.blogspot.com ने कहा…

विजया दशमी की हार्दिक शुभकामनाएं। बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक यह पर्व, सभी के जीवन में संपूर्णता लाये, यही प्रार्थना है परमपिता परमेश्वर से।
नवीन सी. चतुर्वेदी

मदन शर्मा ने कहा…

बेहद सरस और माधुरी पूर्ण प्रस्तुति
बहुत ही अच्छा लगा| क्या खूब लिखते हैं !! आप मेरे पोस्ट पे आकर मेरा हौसला बढ़ने के लिए आपका धन्यवाद ! आप को बुराई पर अच्छाई की विजय के प्रतीक दशहरा पर्व पर हार्दिक शुभ कामनाएं एवं बधाई ..........

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…

विजयदशमी की हार्दिक शुभकामनाएं
संवाद मीडिया के लिए रचनाएं आमंत्रित हैं...
विवरण जज़्बात पर है
http://shahidmirza.blogspot.com/

Urmi ने कहा…

बहुत बढ़िया लिखा है आपने! लाजवाब प्रस्तुती!
आपको एवं आपके परिवार को दशहरे की हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें !

Satish Saxena ने कहा…

शुभकामनायें सरस्वती पुत्र !

Madhu Tripathi ने कहा…

Rajendra ji

aapke shabdon jaisi hi sundar hai aapki aawaj
sunkar bhavvibhor ho gayee

madhu tripathiMM
tripathi873@gmail.com
http://kayachitra.blogspot.com